पुस्तक समीक्षा : “सबसे सस्ते दिन” ~ अजय चंदेल

सबसे सस्ते दिन संग्रह की कहानियाँ साफ-सीधी और नए गठान की हैं। कुल जमा सत्ताइस कहानियाँ—तीन खंडों में विभक्त—जाने-पहचाने परिवेशों…

गोरा-बादल

आप सबने (फ़िल्म में) सुना और देखा ही होगा की किस तरह अल्लाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़गढ़ किले के नीचे पड़ाव…